फेस मास्क और फेस कवर: सामान्य गलतियों और सावधानियां

फेस मास्क और फेस कवर: सामान्य गलतियों और सावधानियां

फेस मास्क और फेस कवर: सामान्य गलतियों और सावधानियां

फेस मास्क और फेस कवर: सामान्य गलतियों और सावधानियां


कोरोनावायरस तेजी से फैल रहा है। हमें संक्रमण से बचने के लिए सभी संभव एहतियाती करने होंगे। कई लोग इसलिए इन्फेक्ट हो रहे हैं क्योंकि उन्होंने ये सावधानियां बरतते हुए कुछ गलतियाँ की हैं।
कोरोनावायरस मुख्य रूप से मुँह और नाक से निकली छोटी छोटी बूंदो से फैलता है। जब हम साँस लेते हैं, छींकते हैं या बात करते हैं, तो बहुत छोटी बूंदें हमारे मुंह से निकलती हैं और चारों ओर फैल जाती हैं। एक कोरोनावायरस  संक्रमित व्यक्ति से निकलने वाली बूंदें कोरोनावायरस ले जा सकती हैं। अगर गलती से से बुँदे किसी भी तरह आपके मुँह, नाक या आंख में पहुंच जाएं तो ये बीमारी आपको भी हो सकती है। इसलिए, संक्रमण से बचने के लिए आपको अपने चेहरे को ढंकना चाहिए।

इस छोटे से आर्टिकल में हम आपको बताएंगे की आपको फेस मास्क पहनते समय क्या गलतिया नहीं करनी चाहिए और उन्हें कैसे ठीक करना चाहिए। 

फेस मास्क और कवर के साथ आम गलतियां:

फेस मास्क गलती 1: बीच में गैप छोड़ना
सबसे महत्वपूर्ण चीज फेसमास्क या फेस कवर इस तरह से फिट होना चाहिए कि बिल्कुल भी हवा बगल से न आ सके। यदि आप एक मास्क खरीद रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि इसमें नाक के ऊपर पतली मेटल या प्लास्टिक की पट्टी है जिसे आप वहां से हवा आने से बचने के लिए दबा कर फिट कर सकते हैं। 

फेस मास्क का उपयोग करने का उचित तरीका

Proper way to use face mask
चित्र: आम फेस मास्क की गलती जो हमें नहीं करनी चाहिए। 

हम आसानी से फेस मास्क की ये गलती टेस्ट भी कर सकते हैं।

टेस्ट 1:

यदि आपको कोई संदेह है, तो मास्क पहनने के बाद बड़ा चश्मा या सनग्लास पहनें और मुँह से जोर से हवा छोड़ें। अगर आपके चश्मे में भाप आ जाती है तो ये गलत है। अगर आप चश्मे को २ मिनट फ्रिज में रख कर ये ट्राई करते हैं तो और अच्छे से पता चलता है। 

Face mask fitting test
चित्र: अगर चेहरे का मास्क नाक के पास फिट नहीं है, तो चश्मे पर भाप आ जाती है।

टेस्ट २

अगर आपको डाउट है कि आपका मास्क साइड से फिट नहीं है (आमतौर पर यह ठोड़ी के पास ढीला हो सकता है), तो आप उस तरफ कागज का एक टुकड़ा रख दें, अब बाकी साइड कवर करके मुँह से जोर से हवा छोड़ें. अगर पेपर उड़ जाता है मतलब वहां से मास्क ढीला है। 

उपाय (Solution)

अगर आप घर का बना  मास्क पहनते हैं या आपके मास्क में नाक के पास पट्टी नहीं है, तो उस गैप में थोड़ा पतला कपडा या रुई डाल दें।

फेस मास्क गलती 2: गलत कपड़े का मास्क/कवर पहनना 

आपका मास्क पतले कपड़े से बना नहीं होना चाहिए। सबसे अच्छा कपड़ा है कॉटन (सूती), पॉलीप्रोपलीन और पॉलिएस्टर। कम से कम 3 परतों से बना फेस कवर अच्छा होता है।  बहुत मोटा कपड़ा भी न उपयोग करें, इससे साँस लेने में दिक्कत होती  है।   
साथ ही साथ स्ट्रेचेबल (खींचने वाला ) कपड़े के बने मास्क का यूज़ नहीं करें। खींचने पर इनमे छेद बढ़ जाते हैं  जिनमे से बूंदें आराम से अंदर आ सकती हैं। ये आप मास्क को खींच कर, उसमे से आती हुई रौशनी देख कर समझ सकते हैं.

A bad face mask show hole
छवि: असुरक्षित फेस मास्क की पहचान। एक खराब फेस मास्क को जब खींच कर रौशनी में देखा जाता है तो उसमे से रोशनी आती दिखती है.

अगर आपने पहले ही मास्क खरीद लिया है तब उसमे अंदर की तरफ एक कॉटन का कपडा या बाहर  की तरफ पोलएस्टेर का कपडा सिल दीजिये।

फेस मास्क गलती 3: अपने मास्क को गले पर उतार लेना 

भैया देखो ये बहुत ही बड़ी गलती है. जब आप मास्क पहन कर किसी से बात करते हो तब बाहर के बूंदें और कीटाणु गले पर तो गिरते ही हैं. अब जब आप मास्क निचे गले पर करोगे, तब ये वायरस मास्क के अंदर साइड में लग जाएंगे और आप साँस लेने पर इनको भी अंदर ले लोगे.
अगर मास्क हटाना ही पड़ता है तो साइड की पट्टी से पकड़ कर निकालें.  

फेस मास्क गलती 4: अपने फेस मास्क को छूना

कृपया हाथों से फेस मास्क की अंदर की या बाहरी सतह को न छुएँ। अगर छूना भी पड़ता है तो साफ़ धुले हुए या सैनीटाइस किये हुए हाथों से छुएं. और उतारने के लिए साइड की पट्टी को ही छुएं। 

फेस मास्क की गलती 5: दूसरे का मास्क यूज़ करना

कृपया अपने फेस मास्क को किसी और को न दें, विशेष रूप से इसे ठीक से धोए बिना तो बिल्कुन ही नहीं। धोने के बाद भी, साझा न करना ही बेहतर है।

फेस मास्क की गलती 6 : मास्क Try करना या खुला हुआ मास्क लेना 

भैया अब ऐसा है, ये जो कुल में मास्क बिक रे हैं ना, इनसे ही इन्फेक्शन बहुत फ़ैल रहा है. कोई भी आकर try करके जाता है और फिर नहीं लेता. पर उसकी नाक के सब पार्टिकल्स मास्क पर तो लग गए न. अब जब अगला आदमी इसे पहनेगा या try करेगा, तब वो इन्हे अंदर ले लेगा. इसलिए खुला हुआ मास्क न try करे न लें.
अगर आप ऐसा मास्क लेते भी हैं तो बिना try करे लीजिये और फिर घर आकर उसे अच्छे से साबुन से धोने के बाद ही सूखा कर use कीजिये. साथ ही, अक्सर ऐसे मास्क की  क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं होती की वो आपको बचा सके.

फेस मास्क गलती 7: गलत तरीके से धोना या साफ़ करना 

कभी भी सर्जिकल मास्क या N95 मास्क न धोएं। इसे डिटर्जेंट से धोने या फिर ब्लीच या अल्कोहल लगाने से इसकी quality ख़राब हो जाती है. अगर साफ़ करना ही है तो इसे कुकर में हलकी भाप में 10 मिनट तक रखें, पर ऐसे रखें की ये गीला ना हो। तो किसी रिंग/स्टैंड पर रख कर, कुकर में थोड़ा पानी डाल कर उसे बिना सिटी लगाए १० मिनट तक हलकी भाप में रखें. साथ ही मास्क के पैकेट पर पहले ही चेक कर लेना की इसे कैसे साफ़ कर सकते हैं.
नीचे के वीडियो में आप देख सकते हैं की इसे कैसे साफ़ करना है.



कपड़े से बने होममेड मास्क को इस्तेमाल के बाद रोज डिटर्जेंट से धोना चाहिए।

फेस मास्क गलती 8: साड़ी, चुन्नी या बुरखा से वायरस को रोकना 

इन चीज़ो का कपडा अक्सर इतना पतला होता है जी वायरस आराम से आर-पार हो जाता है. अगर चुन्नी से ढक रहे हैं तो कॉटन की चुन्नी से २-३ परत बना कर चेहरा ढकें.

फेस मास्क गलती 9: इस्तेमाल किए हुए मास्क को इधर-उधर रखना

जब आप घर वापस आते हैं, तो अन्य सतहों जैसे टेबल या रैक पर इस्तेमाल किया हुआ मास्क न रखें। आप उस सतह को इन्फेक्ट कर सकते हैं। अगर यह एक यूज़ एंड थ्रो  मास्क है, तो उपयोग के बाद इसे डस्टबिन में फेंक दें। अगर आप इसे धोना चाहते हैं, तो सीधे उस बर्तन में रखें जिसमें आप इसे धोएंगे।

फेस मास्क गलती 10: पूरे दिन के लिए एक ही मास्क का उपयोग करना

अगर आपके आस पास बहुत संक्रमण फ़ैल राहा है या बहुत भीड़ भाड़ रहती है तो आपको  हर 2-3 घंटे में अपना मास्क बदलना होगा। अगर बहुत सारे कोरोनावायरस  मास्क के बाहर जमा हो जाएंगे, तो कुछ घंटो में अंदर आने लगेंगे। अगर आपके आस पास ज़्यादा केसेस नहीं हैं या आप बहार ज़्यादा देर नहीं रहते तो दिन भर १ मास्क से काम चल जाएगा. 

फेस मास्क गलती 11:  नाक के नीचे मास्क पहनना या नीचे से गैप छोड़ना 

भाई अगर मास्क नाक से नीचे ही पहनना है, तो उससे अच्छा है पहनो ही मत। क्या मतलब है ऐसे नाटक करने का? साथ में निचे से भी गैप नहीं होना चाहिए. आप जब सांस लेते हो, तब  हवा मास्क से होकर आनी चाहिए है, आस पास से नहीं. 

फेस मास्क की गलती 12: फिर से वही कपडा पहनना 

भैया देखो, कई लोग रुमाल या तौलिये से मुँह ढकते हैं। फिर जब आप घर आते हो या आस पास कोई नहीं होता तब उसे उतार कर रख देते हो और थोड़ी देर बाद फिर से पहन लेते हो। रुमाल या कपडे में अक्सर ये नहीं पता चलता की पिछली बार कौन सा साइड अंदर था और कौन सा बाहर, और कई बार बहार वाला साइड अंदर पहन लिया जाता है और कोरोनावायरस अंदर आ जाता है. 
इसके लिए अगर हो सके तो बाहर वाले साइड पर कोई निशानी लगा दीजिये, या हर बार अलग रुमाल पहनिए. अगर बार बार निकलना ही पड़ता है, तो निकाल कर, अंदर वाले साइड को अंदर फोल्ड कर किसी मिठाई के बक्से में डालिये और फिर कोई आए तो निकाल कर पहन लीजिये. पर हमेशा मास्क को छूने के पहले या बाद में हाथ साफ़ कीजिये. 

फेस मास्क की गलती 13: कोई भी मास्क पूरी तरह सुरक्षा नहीं देता 

मास्क पहनना आपकी सुरक्षा की गारंटी नहीं देता है। यह बहुत हद तक संक्रमण की संभावना को कम करता है। तो, लोगो से दूरी बनाए रखें और हाथो को बार बार साफ़ करते रहे. 

फेस मास्क गलती 14: वाल्व वाले मास्क का उपयोग करना

वाल्व वाला फेस मास्क आपको उतनी ही सुरक्षा देता है जितना बिना वाल्व वाला, पर ये पहनने वाले से दूसरे लोगो को नहीं बचाता। इसलिए ये एक आदमी के लिए तो अच्छा हो सकता है पर समाज के लिए नहीं. इसलिए बिना वाल्व वाला मास्क पहनिए. अगर ऐसा मास्क ले लिए है तो इसके वाल्व पर सूती कपडा सील दें।   

फेस मास्क गलती 15: 1 लेयर मास्क पहनना

चाहे कुछ भी हो जाए, 1 परत वाला फेस कवर न पहनें. मास्क में कम से कम 3 लेयर होनी चाहिए। इनमे से अंदर वाली कॉटन (सूती) और सबसे बहार वाली पॉलिएस्टर या पॉलीप्रोपलीन की होनी चाहिये।      

फेस मास्क गलती 16: मैला या फटा हुआ मास्क पहनना

अगर आपने अभी तक बात समझी है, तो इस बारे में समझाने की कोई जरुरत ही नहीं है.  
 
याद रखें अगर आप स्वस्थ हो तो मास्क आपको 70 - 90% तक बचा सकता है।  पर ये सब काम असरदार है अगर सामने वाला आदमी मुँह और नाक नहीं ढकता। अगर कोरोना संक्रमित आदमी ठीक से फेस कवर करे तो बाकी का 95-98% तक बचाव हो जाता है.

अक्सर मास्क पहनने वाले को पता ही नहीं होता की वो  इन्फेक्टेड है, और वो इन्फेक्शन फैलाता रहता है। इसलिए दुसरो से भी ये गलतिया करने से बचने को कहें। याद रखें, हम अकेले इस कोरोनावायरस से नहीं लड़ सकते, हमे मिल कर इससे लड़ना होगा. अगर कोई मास्क या फेस कवर नहीं पहन रहा तो वो बाकी सबको नुकसान पहुंचा सकता है।  इसलिए सबको अच्छे से मास्क पहनने को कहिये। बिना चेहरा ढके दूकान, घर या ऑफिस में आने मत दीजिये।   

अभी इतना ही दोस्तों. जल्दी ही और मास्क की जानकारी ले कर आऊंगा और आपको बताऊंगा कैसा मास्क लेना चाहिए।
तब तक आप सुरक्षित रहिये सारी सावधानिया लीजिये। और ये जानकारी अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से शेयर कर सबको कोरोना से बचाइए।

अगर आपके कोई सवाल हैं तो नीचे कमैंट्स में पूछिए।

सुरक्षित रहिये, स्वस्थ रहिये। 

0 Response to "फेस मास्क और फेस कवर: सामान्य गलतियों और सावधानियां"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ads Atas Artikel

Ads Center 1

Ads Center 2

Ads Center 3