अगर आपके आसपास कोरोना का केस मिले तो क्या करें

अगर आपके आसपास कोरोना का केस मिले तो क्या करें

अगर आपके आसपास कोरोना का केस मिले तो क्या करें

अगर आपके आसपास कोरोना का केस मिले तो क्या करें


आज हम जानेंगे कि अगर आपके मोहल्ले, आपके बिल्डिंग, या आस-पास कोई कोरोना केस मिलता है तो कैसे बचें?
कोरोना बीमारी के लक्षण 5 से 7 दिन बाद दिखना चालू होते हैं,  संक्रमित व्यक्ति इसके तीन-चार दिन पहले से ही संक्रमण फैलाने वाली अवस्था में आ जाता है।  इसका मतलब है अगर कोई आज पॉजिटिव मिला है तो वह तीन-चार दिन से आसपास संक्रमण फैला रहा था। अगर उसने पूरे समय अच्छे से फेस कवर किया था तो इसकी सम्भावना कम है, पर अगर उसने पूरे समय ढंग से किया था।
मतलब आपके आसपास और लोगों में या फिर पर आप में इंफेक्शन आ चुका हो सकता है। इसीलिए उस एरिया हो कंटेनमेंट जोन बना देते हैं और ऐसे में हमें भी और अधिक सावधानी रखनी पड़ेगी। इसलिए आप इन चीजों का पालन करें:

corona hindi

1. खुद में कोरोना के लक्षणों को देखें

क्योंकि इंफेक्शन तीन-चार दिन से आपके आसपास कह रहा था तो और भी लोग इन फैक्ट हो सकते हैं। इसलिए सभी लोगों को  रोज अपने स्वास्थ्य की जांच करनी चाहिए । नीचे क्लिक करके आप कोएना के लक्षण जान सकते हैं।
सरकार के बताएं बीमारी के लक्षण पर ही मत रहिए, यह अक्सर थोड़ी पुरानी जानकारी होती है और छोटे शहरों तक पूरी तरह नहीं पहुंचती है । अगर आपको इनमें से कोई लक्षण है तो खुद को आइसोलेट करिए और फोन पर डॉक्टर से संपर्क करिए। यही बात कोरोना पॉजिटिव आदमी से पिछले एक हफ्ते में मिलने वाले लोगों से कहिए।  

2. आम उपयोग  की चीजों को  साफ करें

कोरोनावायरस  कुछ चीजों पर कुछ दिनों तक जीवित रह सकता है. इसलिए पॉजिटिव आदमी ने जो कुछ छुआ है,  उन सब को साफ करें. यह आपके बिल्डिंग के लिफ्ट, सीढ़ी की रेलिंग, दरवाजे की घंटी, दरवाजे के हत्थे, या ऐसी जगह जहां किसी कोरोना पॉजिटिव आदमी ने पिछले दो-तीन दिन में कुछ मिनट बिताए थे, हो सकते हैं। 

3. कोरोना से संक्रमित व्यक्ति उसके परिवार और होम आइसोलेशन वालों की मदद करें

कई शहरों में कोरोना से  बीमार लोग इतने हो गए हैं कि अब उन्हें उनके घर में ही आइसोलेशन के लिए बोला जाता है। साथ ही में उनके परिवार को भी होम आइसोलेशन के लिए कहा जाता है। आपको इनकी मदद करनी है। पूरी कोशिश कीजिए उनको किसी कारण से बाहर न जाना पड़े।
इसका मतलब यह नहीं है कि उनको ताला लगाकर बंद कर दें,  ऐसा करने पर आपको जेल हो सकती है। बल्कि उनको जो भी चाहिए उनको ला कर दीजिए। जब भी आप कुछ खरीदने जाएं उनके परिवार में फोन करके  पूछिए उनको कोई सामान चाहिए क्या?
उनके लिए अलग से एक बैग या थैली में  सामान लीजिए, फिर  उनके घर पहुंच कर सामान घर के बाहर रख दीजिए.  थोड़ी दूर जाकर उनको फोन करके कहिए कि सामान उठा लीजिए।  उनसे आप ऐसे ऑनलाइन जैसे कि पेटीएम फोनपे आदि से ले सकते हैं या फिर बाद में पैसे ले सकते हैं। 
याद रखिए इस कोरोना बीमारी से कोई  सुरक्षित नहीं है। तो भगवान ना करें अगर कल को यह आपके घर पहुंचता है तो आपके पड़ोसी ही आपकी मदद करेंगे।  इसलिए आप भी उनकी मदद  कीजिए। क्योंकि अगर आप उनकी मदद नहीं करेंगे तो उनको घर के बाहर आना पड़ेगा जिससे इंफेक्शन फैलने  की संभावना बढ़ जाती है।

4.  बस एक ही आदमी बाहर जाए

क्योंकि कोरोना आस पास आ चुका है,  घर से बस एक ही आदमी को बाहर सामान लेने जाना चाहिए। वह घर का सबसे स्वस्थ व्यक्ति होना चाहिए। हो सके तो कोई ज्यादा उम्र वाला या फिर अक्सर बीमार रहने वाला सदस्य ना हो.  जितना हो सके बाहर जाने को  टालिए।  मधुमेह वालों को सबसे ज्यादा खतरा होता है। और अक्सर उन्हें पता ही नहीं होता कि उन्हें मधुमेह है.  आप मधुमेह के मुख्य लक्षण यहां पढ़ सकते हैं

5.  जब भी आप बाहर जाएं ऐसे जाएं

A. अपना  मास्क अच्छे से पहने.  इस लिंक पर जाकर पढ़िए की फेस मास्क या चेहरा ढकने की क्या गलतियां आपको नहीं करनी चाहिए।  
B. अपने सर को भी  कपड़े टोपी यहां किसी  और चीजों से  रखिए।  
C. हो सके तो हेड शील या फिर हेलमेट पहन कर निकले।  
 चाहे तो हाथों को दस्तानों से ढक सकते हैं।  
D. जब आप वापस घर आए तो अपने जूतों को बाहर ही निकाल  दो। जूतों को कुछ दिनों में साबुन से धोते भी रहो।  
E. हमेशा अपनी जेब में sanitizer की छोटी बोतल  रखिए  और बार-बार अपने हाथ साफ करते रहिए।  
 

6. घर वापस आने के बाद यह सब करिये

A. जितनी जल्दी हो सके नहा लीजिए। अगर आपने बाल नहीं ढके थे तो तो बालों को भी धोइये
B. अपने कपड़ों को धोने को डालिए,  फेस मास्क और हेलमेट को भी साफ कीजिए। मास्क को आप यहाँ बताए तरीके से साफ कीजिए।  
C.  जब आप घर वापस जाएं,  अपने थैले को सीधे जमीन पर नहीं रखिए। इसको किसी कपड़े या कागज पर रखें। 
 नहीं खाने वाले सामान को, या फिर एयर टाइट  पैकेट को साबुन से धो सकते हैं।  खाने वाले सामान को धूप में रखिए या फिर गर्म पानी से साफ कीजिए।  कृपया खाने के सामान को कभी भी साबुन  या फिर डिटॉल  से ना धोइये। 
D. पहले से सब सामान निकालने के बाद इस थैले को और जिस कपड़े पर रखा था उसे  साबुन से धो दीजिए।  अगर आपने पन्नी या पेपर का इस्तेमाल किया था तो उसे कचरे की डब्बे में फेंक दीजिए.

7.  लिफ्ट उपयोग ना करें

लिफ्ट बहुत ही छोटी जगह होती है, इसलिए यहाँ बूंदें काफी समय तक रहती हैं। अगर लिफ्ट उपयोग करना भी पड़ता है तो बटनों को कभी हाथ नहीं लगाइये। उनको लकड़ी या कगह से दबा कर उसे कचरे के डब्बे में डाल दीजिये।

8. कुछ दिनों का खाना पानी इखट्ठा कर लीजिये

हो सकता है कुछ दिन बाद आपके यहाँ से बहार न जाने मिले या आपके घर में कोई कोरोना इन्फेक्टेड आदमी मिल जाए। इसलिए कुछ दिन का खाना इखट्ठा कर लीजिये।  

9. बुजुर्गो और बीमारों को बचाएं 

इस लोगो को कोरोना वायरस का सबसे ज़्यादा खतरा होता है, इसलिए इनको पूरी तरह बचाएं.

10. अपनी इम्युनिटी मजबूत करिये

अच्छा खाना खाइये। इसमें हरी सब्जिया, फल, मेवे वगैरह जरूर खाइये। अगर मांस खाते हैं तो मछली खाइये. धुप में बैठ कर विटामिन डी बनाइये. चाहे वो खिड़की, बालकनी या छत से लीजिये, पर धुप जरूर लीजिये. 
रोज रात को 7 से 8 घंटे तो जरूर सोइये। बच्चे 9 घंटे से ज़्यादा सोएं। रोज व्यायाम और योग कीजिये, ध्यान लगाइये. कोशिश करके खुश रहिये. इन सब चीज़ो से हमारी रोग प्रतिरोधक छमता अच्छी बनी रहती है. 

11. बिल्डिंग में सांइटिज़ेर की बोतल लगवा दीजिये

अगर आप ऐसी बिल्डिंग  जहा बहुत सारे घर हैं तो अंदर आने वाले दरवाजे पर हैंड सांइटिज़ेर की बोतल रखवा दीजिये। हो सके तो  पैर से चलने वाली मशीन के साथ लगवाइये। 

12.  शारीरिक दूरी बनाइये, पर दिलो की दूरी नहीं बढ़ने दीजिये 

यह बहुत कठिन समय है. कई लोग डिप्रेशन में चले जाते हैं। इसलिए अपनो से फोन या वीडियो कॉल करके संपर्क में बने रहिये. 

13. अगर कोरोना मरीज की रिपोर्ट नेगेटिव भी आ जाए तो ढीले मत पड़ जाइये 

20-30% तक रिपोर्ट गलत तरह से नेगेटिव भी आ सकती है। इसका मतलब है अगर आपका या किसी और कोरोना मरीज का ही रिजल्ट नेगटिव आता है इसका मतलब यह नहीं है की संक्रमण रुक गया। आधे से ज़्यादा लोगो में तो संक्रमण के लक्षण ही नहीं दीखते हैं, मतलब आस पास किसी और में भी इन्फेक्शन हो सकता है. इसलिए, इन नियमो का कम से कम 20 दिनों तक सख्ती से पालन कीजिये ताकि अगर किसी घर में इन्फेक्शन पंहुचा है, इतने दिनों में किसी में तो लक्षण जरूर दिखेंगे और पता चल जाएगा। 

14: अपने पड़ोसियों को भी बताइये

ये जानकारी अपने पड़ोसियों और बाकी जानने वालो को भी दीजिये. क्योकि अगर आप सब सावधानिया रखते हैं और कोई और नहीं रखता है तो कोरोना का इन्फेक्शन आस पास घूमता रहेगा और कभी आपके घर भी पहुंच जाएगा।  इसलिए आपको पूरे पड़ोस को कोरोना वायरस से मुक्त करना होगा।

क्या यह जानकारी आपके काम की थी? अगर हाँ, हमें नीचे कमेंट करके बताइये। कोई सवाल हो तो हमसे पूछिए. और ऐसी कोरोना से बचने वाली जानकारी पाते रहने के लिए हमे नीचे से सब्सक्राइब कीजिये. साथ ही ये जानकारी  अपने प्रियजनों से बांटिए.

सुरक्षित रहिये, स्वस्थ रहिये। 

0 Response to "अगर आपके आसपास कोरोना का केस मिले तो क्या करें"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ads Atas Artikel

Ads Center 1

Ads Center 2

Ads Center 3